HomeBreaking Newsगुमशुदा छात्र की हत्या करने वाले दो युवकों को कोतवाली पुलिस ने...

गुमशुदा छात्र की हत्या करने वाले दो युवकों को कोतवाली पुलिस ने 24 घंटे के भीतर किया गिरफ्तार, प्रेम प्रसंग बना हत्या का कारण,आरोपियों द्वारा छात्र के पेट और पीठ पर किए गए चाकू से अनेकों वार

छात्र की हत्या कर लाश को दो रेलवे ट्रैक के बीच झाड़ी में छिपाया गया था, हत्या में प्रयुक्त चाकू को शनि मंदिर के पास नहर में फेंक दिया गया था, बड़ी मशक्कत से हत्या में प्रयुक्त चाकू को नहर से किया गया बरामद

छत्तीसगढ़/कोरबा :- प्रार्थी राजेश कुमार शांडिल्य पिता मुन्नालाल शांडिल्य, उम्र 45 वर्ष, निवासी मोती सागर पारा कोरबा थाना उपस्थित आकर आठ जनवरी को गुम इंसान रिपोर्ट दर्ज कराया कि इसका लड़का दीपेश शांडिल्य दिनांक 8-1-22 के शाम करीबन 5.25 बजे घर से फोन पर बात करते हुए घर से निकला जो वापस नहीं आया कि सूचना पर थाना कोतवाली में गुम इंसान क्रमांक 6/22 दर्ज कर गुम इंसान की पतासाजी की जा रही थी। गुमशुदा छात्र के परिजनों द्वारा अनहोनी की आशंका व्यक्त करने पर घटना के बारे में पुलिस अधीक्षक महोदय श्री भोज राम पटेल को अवगत करा कर आवश्यक दिशा निर्देश प्राप्त किया गया एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक वर्मा तथा नगर पुलिस अधीक्षक कोरबा श्री योगेश साहू के मार्गदर्शन पर नगर निरीक्षक श्री रामेंद्र सिंह के नेतृत्व में कोतवाली पुलिस टीम द्वारा मौके पर पहुंचकर गुमशुदा छात्र के बारे में उनके दोस्तों एवं आसपास लोगों से बारीकी से पूछताछ किया गया। पूछताछ पर पता चला कि गुमशुदा छात्र दीपेश शांडिल्य को अंतिम बार सनी उर्फ आर्यन ठाकुर एवं विजय यादव के साथ देखा गया है जिस पर दोनों युवकों से पूछताछ करने पर पहले तो वे पुलिस को गुमराह करने लगे फिर हिकमत अमली एवम् बारीकी से पूछताछ करने पर उन्होंने बताया कि सनी उर्फ आर्यन ठाकुर जिस लड़की से प्यार करता था उसी लड़की से दीपेश संडिल्य भी प्यार करता है एवं पीछा करता है जिस पर सनी ठाकुर, दीपेश को बातचीत करने के लिए रमेश गली सीतामणी के पास बुलाया इसके बाद सनी ठाकुर, विजय यादव एवं दीपेश तीनों बातचीत करते हुए रेलवे कालोनी सबस्टेशन के पास पहुंचे वहीं पर सनी ठाकुर एवं दीपेश शांडिल्य के मध्य एक ही लड़की के प्रेम संबंध के कारण वाद विवाद एवं हाथापाई चालू हो गया जिस पर पहले दीपेश द्वारा बाजारू चाकू से विजय यादव पर हमला कर दिया इसके बाद विजय यादव द्वारा दीपेश को पीछे से पकड़ा गया तथा दीपेश से चाकू को छीन कर सनी ठाकुर द्वारा चाकू से उसके पेट, पीठ और कमर के नीचे लगातार अनेकों वार किए गए जब तक दीपेश शांडिल्य खत्म नहीं हो गया। इसके बाद विजय यादव एवं सनी ठाकुर मिलकर लाश को उठाकर रेलवे कॉलोनी के सामने सब स्टेशन के पास दोनों दो रेलवे ट्रैक के बीच झाड़ी के बीच छिपा कर लाश को झाड़ी से ढक दिए तथा मृतक के मोबाइल को बंद कर वही झाड़ी में फेंक दिए थे। इसके बाद दोनों आरोपी द्वारा हत्या में प्रयुक्त चाकू को शनि मंदिर के पास नहर में फेंक दिए तथा हाथ पैर धो कर अपने घर चले गए बताए। कोतवाली पुलिस टीम द्वारा आरोपियों के बताए हुए घटनास्थल पर तत्काल पहुंचकर रेलवे ट्रैक झाड़ियों के बीच से गुमशुदा छात्र दीपेश शांडिल्य के शव को बरामद कर लिया गया तथा हत्या में प्रयुक्त चाकू को शनि मंदिर के पास नहर से बड़ी मशक्कत के बाद बरामद कर लिया गया। आरोपियों के द्वारा अपना अपराध स्वीकार करने पर तथा उनके विरुद्ध अपराध सबूत पाए जाने से धारा 302, 201, 34 भा द वि का अपराध दर्ज कर आरोपियों को विधिवत गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है।

उपरोक्त कार्यवाही में नगर निरीक्षक श्री रामेंद्र सिंह के नेतृत्व में उपनिरीक्षक लालन पटेल, सहायक उपनिरीक्षक गणेश राम महिलांगे, प्रधान आरक्षक लक्ष्मीकांत खरसन, आरक्षक चंद्रकांत गुप्ता, अजय यादव, मनीष बघेल, मुकेश मार्बल की सराहनीय भूमिका रही

Must Read