HomeBreaking Newsवनवासी कल्याण आश्रम के अखिल भारतीय कार्यकारिणी सदस्य जीवनव्रती स्व. निशिकांत जोशी...

वनवासी कल्याण आश्रम के अखिल भारतीय कार्यकारिणी सदस्य जीवनव्रती स्व. निशिकांत जोशी जी को दी गई श्रद्धांजलि

जनजाति क्षेत्र के समुचित विकास के लिए अपना जीवन समर्पित करनेवाले स्व. निशिकांत जोशी जी का जीवन उनके द्वारा किये गए कार्य के रूप में सदा स्मरण रहेगा

छत्तीसगढ़/रायपुर :-  आज रविवार, 30 जनवरी को रायपुर के वनवासी कल्याण आश्रम, रोहिणीपुरम् के सभागार में कोरोना की गाइडलाइन का पालन करते हुए स्व. निशिकांत जोशी जी को श्रद्धांजलि देने के लिए श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया।

इस श्रद्धांजलि सभा में वनवासी कल्याण आश्रम के अखिल भारतीय पदाधिकारी और प्रदेश पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि के रूप में पुष्पांजलि अर्पित की।

इस सभा में प्रमुख रूप से उपस्थित वनवासी कल्याण आश्रम के राष्ट्रीय संगठन मंत्री श्री अतुल जोग जी ने स्व. निशिकांत जोशी जी के जीवन प्रसंगों का वर्णन करते हुए बताया कि, जनजाति कार्य के लिए निशिकांत जी के द्वारा किये गए कार्य सदा प्रेरणा देते रहेंगे।
अतुल जोग जी ने बताया कि, वनवासी कल्याण आश्रम के वरिष्ठ कार्यकर्ता एवं पूर्व अखिल भारतीय छात्रावास प्रमुख श्री निशिकांत जी जोशी जनजाति क्षेत्र के विकास के लिए सपत्नीक आजीवन कार्य करते रहे।
उन्होंने बताया कि, 13 फरवरी 1947 को जन्में निशिकांत जी मूलतः नागपुर के स्वयंसेवक थे। शिक्षा प्राप्त करने के बाद 1970 से 1977 में वे असम और मणिपुर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक रहे। वहाँ से वापस आने के बाद उन्होंने अध्यापन का भी कार्य किया। माधवी ताई जी के साथ विवाह होने के बाद तत्कालीन संघ के पू. सरसंघचालक बालासाहेब देवरस जी की सूचना अनुसार 1981 निशिकांत जी और माधवी ताई ने वनवासी कल्याण आश्रम का पूर्णकालीन कार्यकर्ता के नाते कार्य प्रारंभ किया। मणिपुर, असम, छत्तीसगढ़ में विभिन्न दायित्व का निर्वहन किया। असम, छत्तीसगढ प्रांत संगठन मंत्री, मध्य क्षेत्र संगठन मंत्री, पश्चिम क्षेत्र संगठन मंत्री, अखिल भारतीय छात्रावास प्रमुख जैसे विभिन्न दायित्व का निर्वहन करते हुए उन्होंने कल्याण आश्रम के विकास में अपना महत्त्वपूर्ण योगदान दिया। वनवासी कल्याण आश्रम के एक दीर्घानुभवी, स्नेह शील तथा सभी कार्यकर्ताओं के प्रेरक आधार रहे है। रायपुर में पूर्वांचल असम, मणिपुर की बालिकाओं के लिए बालिका छात्रावास निशिकांत जी के प्रयत्न से शुरू हुआ जो आज तक सफलता पूर्वक संचालित है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पूर्व सरकार्यवाह भैयाजी जोशी जी ने वीडियो संदेश के माध्यम से अपनी श्रद्धांजलि दी। वनवासी कल्याण आश्रम के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष द्वय सत्येंद्र सिंह, जलेश्वर ब्रह्म ने और पूर्व राष्ट्रीय संगठन मंत्री गुणवंत सिंह कोठारी जी ने वीडियो संदेश के माध्यम से श्रद्धांजलि दी। कई पूर्व छात्राएं जो आज समाज जीवन के अनेक क्षेत्र में सफलता पूर्वक अपनी बड़ी भूमिका का निर्वाह कर रहे है, उन्होंने भी वीडियो संदेश के माध्यम से अपनी श्रद्धांजलि दी।

संघ के अनेक विविध संगठनों के द्वारा श्रद्धांजलि दी गई। इस श्रद्धांजलि सभा का वनवासी कल्याण आश्रम के फेसबुक पेज पर लाइव प्रसारण किया गया।

इस श्रद्धांजलि सभा का संचालन वनवासी कल्याण आश्रम के संरक्षक गोपाल अग्रवाल जी द्वारा किया गया। इस अवसर पर शबरी कन्या छात्रावास की छात्राएं, अनेक गणमान्य नागरिक व कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Must Read